पिछले हफ्ते आपने रेन्को चार्ट्स, उनके निर्माण और नियमित रूप से आपके द्वारा उपयोग किए जाने वाले कैन्डलस्टिक चार्ट्स के विकल्प के रूप में कैसे उपयोग किया जा सकता है, के बारे में जाना।

आज मैं आपको इस बात की गहराई में ले चलूँगा कि रेन्को चार्ट्स की अपनी समझ को बेहतर करने के लिए कैसे कोई ट्रेडीशनल चार्ट एनालिसिस को जांच सकता है।

चार्ट पैटर्न

रेन्को की शक्ति नॉइस को फिल्टर कर ट्रेंड्स को स्पष्ट रूप से दिखाने की उसकी क्षमता में निहित है। आप नीचे इंडिगो का चार्ट देख सकते (ब्रिक साइज़: 15 ~ 1%) हैं जो आपको यह दिखाता है।

इसके परिणामस्वरूप, आप ना केवल प्राइज़ की चाल को स्पष्ट रूप से देख सकते हैं बल्कि निम्नलिखित महत्वपूर्ण पाइटर्न्स को भी डिफ़ाइन कर सकते हैं-

  • मार्केट के हाइज़ और लोज पर सपोर्ट और रेजिस्टेंसेस
  • ट्रायएंगल्स
  • डबल टॉप्स और डबल बॉटम्स आदि

यहाँ इंफी का चार्ट हमें स्पष्ट रूप से डिफ़ाइंड सपोर्ट, रेजिस्टेंसेस और ट्रेंड लाइंस दिखाता है।

रेन्को और बॉलिंगर बैंड्स

बॉलिंगर बैंड्स पर रेन्को सिगनल्स अच्छे चलते हैं। बॉलिंगर बैंड्स का उपयोग करके कई ट्रेड सेट-अप्स संभव हैं। इनमें मुख्य सपोर्ट और रेजिस्टेंस लेवल्स पर ट्रेंड चेंजेस और अस्थिरता में परिवर्तन का सिग्नल देने के लिए बैंड्स का निर्माण शामिल है। बैंड्स के किनारे पर एक रिवर्सल ब्रिक एक दिलचस्प ट्रेड सेट अप है।

नीचे दिया गया फिगर आईसीआईसीआई बैंक के लिए बॉलिंगर बैंड (20,2) से ढंका हुआ (ब्रिक साइज़:4) का डेली चार्ट प्रदर्शित करता है। फिगर 1 पर पॉइंट ए और फिगर 2 पर पॉइंट बी,सी और डी ऊपरी हिस्से के(अपसाइड) रिवर्सल दिखाते हैं और फिगर 2 पर पॉइंट ई डाउनसाइड रिवर्सल दिखाता है। एग्जिट करने के लिए मिडिल बैंड के ज़ोन में दिशा परिवर्तन देखें या स्टॉप लॉस को पीछे छोड़ते हुए इन ट्रेड्स की सवारी करें।

रेन्को और मूविंग एवरेजेस

रेन्को चार्ट्स को एनलाइज करने में मूविंग एवरेजेस एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। एक्सिस बैंक के इस डेली चार्ट में आप देख सकते हैं कि कैसे 20 ईएमए और 50 ईएमए चढ़ाव में सपोर्ट और उतार में रेजिस्टेंस की निर्णायक भूमिका निभाते हैं।

रेन्को और फिबोनैची एवरेजेस

प्राइज़ में बदलावों की पुष्टि करने एक शक्तिशाली तरीका है रेन्को चार्ट्स को फिबोनैची रिट्रेस्मेंट लाइंस से ओवरले करना। नीचे एशियन पेंट्स के फिगर में हम देख सकते हैं कि पहले रेन्को चार्ट ब्रिक्स ने लो से हाई वेव बनाई और फिर हाई पर पहुँचने के कई प्रयास किए, पहले 23.6% के रिट्रेस्मेंट स्तर से और फिर 50% के स्तरों से। एक ट्रेडर रिट्रेस्मेंट प्रयास को ट्रेड और रेन्को चार्ट ब्रिक्स को गाइड के रूप में उपयोग करना चाह सकता है।

अगले हफ्ते मैं रेन्को को ट्रेड करते समय फॉलो किए जानेवाले कुछ महत्वपूर्ण सुनियोजित नियमों और स्टेप्स पर चर्चा करूंगा और उसके बाद रेन्को का एक सेंटिमेंट इंडिकेटर के रूप में उपयोग और कुछ रिस्क मैनेजमेंट गाइड लाइंस।

देखते रहिए!